संपर्क
DRDO
मुख्य पृष्ठ >कैब्स > कार्यक्षेत्र

प्रणाली परीक्षण और एकीकरण रिग (एसटीआईआर)

एईडब्ल्यू एवं सी प्रणाली का सफल साबित होना केवल उनकी समुचित तकनीकी कार्यक्षमता के लिए विभिन्न प्रणालियों की सावधानी से डिजाइनिंगपर निर्भर है, जबकि उनके विमान पर स्थापित करने के लिए रगेडाइजेशन जरूरतों को पूरा कर सकता है। यह एक बहुत ही कठिन काम है, क्योंकि प्रणाली बहुत जटिल है और कार्यक्षमता की उम्मीदें उच्च हैं। प्रणाली के सूक्ष्म विवरणों के लिए परीक्षण की आवश्यकता है। सभी उप-प्रणालियों का पहले अलग-अलग और फिर एकीकृत वातावरण में परीक्षण किया जा रहा है। प्रणाली का परीक्षण बेहद संवेदनशील मामला है और सभी उपप्रणालियों के लिए विशेष परीक्षण रिग्स की आवश्यकता है।

system1.jpg

क.एंटीना एकीकरण एवं परीक्षण रिग: एईडब्ल्यू एवं सी प्रणाली के प्राथमिक रडार में 10मी. x 1मी.का आयाम होता है। इलेक्ट्रॉनिक प्रणालियों और संबद्ध विद्युत/ संकेत संयोजकता की एक छोटी मात्रा है, लेकिन इसे एंटीना की बड़ी लंबाई के साथ स्थापित किया जाएगा। इसके लिए प्रयोगशाला की विशेष स्थिति और काम करने की बेहतर सुविधाओं की आवश्यकता है। इस प्रयोजन के लिए एसटीआईआर इमारत में एक एंटीना एकीकरण व टेस्ट रिग बनाया गया है। इसमें 38 मी. x 12मी. x 15 मी. का एक आयाम है। प्राथमिक रडार के सभी यांत्रिक एकीकरण यहां किए जाएंगे। सभी विद्युत परीक्षण भी इस रिग में आयोजित किए जाएंगे। विकास के इस चरण के सफलतापूर्वक पूरा होने के बाद, एंटीना को प्रदर्शन के परीक्षण के लिए एक अन्य रिग के लिए ले जाया जाएगा।

 पीएनएफएम सुविधा में इस एंटीना का गहन परीक्षण करने की योजना बनाई गई है।

system2.jpg

ख. प्लानर नजदीकी क्षेत्र मापन मापन (पीएनएफएम) सेटअप के साथ एनेच्वायस कक्ष  - रडार प्रदर्शन माप के लिए एसटीआईआर परिसर में एक और बड़ा एनेच्वायस कक्ष बनाया गया है। इस कक्ष के आयाम 33 मी. x 13 मी. x 13 मी. हैं। इस कक्ष के अंदर 30 मी. x 8 मी. का एक प्लानर नजदीकी क्षेत्र मापन (पीएनएफएम) सुविधा बनाई गई है। 500MHz से 20GHz के एंटीना के विभिन्न प्रकार के प्रदर्शन के मूल्यांकन के लिए इस सुविधा का इस्तेमाल किया जा सकता है। एकीकरण व परीक्षण रिग में बिजली के परीक्षणों के पूरा होने के बाद, प्राथमिक रडार को प्रदर्शन के परीक्षण के लिए एनेच्वायस कक्ष में लाया जाएगा।

 

system3.jpg


चूंकि पीएनएफएम के परिचालन की आवृत्ति की सीमा काफी बड़ी है, अतएव इस समय दुनिया में उपलब्ध एंटीना के अधिकांश प्रकार के प्रदर्शन परीक्षण करना संभव है। सुविधा के आयाम इस के लिए लाभ उत्पन्न करते हैं। इसके लिए, एसटीआईआर परिसर में पीएनएफएम एक अनोखी सुविधा है और भारत में इस उद्देश्य के लिए उपलब्ध सबसे बड़ी सुविधा है ।.

ग. ईएमआई/ईएमसी परीक्षण सुविधा - एईडब्ल्यू एवं सी से संबंधित सभी उपकरणों के परीक्षण के लिए एमआईएल- एसटीडी-461 के अनुसार एक विद्युत चुंबकीय हस्तक्षेप और संगतता प्रयोगशाला (ईएमआई / ईएमसी) भी बनाई गई है। इन परीक्षणों के संचालन के लिए, एनेच्वायस कक्ष का उपयोग किया जाएगा।

system4.jpg

 घ. उप प्रणालियों के लिए अलग-अलग परीक्षण रिग्स  -  एसटीआईआर भवन को एईडब्ल्यू एवं सी प्रणाली की सभी प्रमुख उपप्रणालियों के अलग-अलग परीक्षण रिग्स सहित बनाया गया है। विमान पर स्थापित की जाने वाली और प्रदर्शन परीक्षण के लिए रिग में सभी उपप्रणालियों के 1:1 के प्रतिनिधित्व के लिए के लिए सुविधाएं उपलब्ध हैं   विभिन्न वायुमंडलीय स्थितियों में इन प्रणालियों के प्रदर्शन का परीक्षण करने के लिए यहां विभिन्न अनुकरण प्रणालियाँ भी हैं, लेकिन प्रयोगशाला में कृत्रिम रूप से निर्मित है।


system5.jpg


system6.jpg


 ङ. जमीनी परीक्षण रिग - हालांकि, रिग में सभी उप प्रणालियों के अलग-अलग प्रदर्शन का परीक्षण किया गया है और उन्हें ठीक पाया गया है, फिर भी इन प्रणालियों को एकीकृत प्रदर्शन परीक्षण बहुत महत्वपूर्ण है। इस के लिए एसटीआईआर इमारत में एक जमीनी परीक्षण रिग बनाया गया है। उपकरण रैकों, परिचालकों की कुर्सियों इत्यादि की 1:1 व्यवस्था के साथ एक नकली विमान संरचना बनाई गई है। सभी उप प्रणालियों को उनके निर्दिष्ट स्थानों पर स्थापित किया जाएगा और प्रदर्शन परीक्षण किए जाएंगे। खुले वातावरण में ट्रांसमीटर/ रिसीवर का प्रतिनिधित्व करने के लिए उन्हें छत पर स्थापित किया जाएगा और उनसे संकेतों को इन रैकों में लाने के लिए विशेष व्यवस्था की गई है। इस प्रकार वास्तविक विमान स्थितियों का प्रतिनिधित्व करना, सटीक केबल लंबाई रखना और प्रदर्शन का मूल्यांकन करना संभव है। वास्तविक उड़ान परिस्थितियों को छोड़कर (कंपन, ऊंचाई, दबाव आदि) शेष सभी की नकल यहां की जा सकती है।
इससे विमान पर अंतिम स्थापना से पहले, समस्या को, यदि कोई हो तो, बेहतर ढंग से समझने में मदद मिलती है।


system7.jpg

.
.
.
.
Top