संपर्क
DRDO

दूसरी प्रयोगशालाओं के साथ संपर्क

  1. रक्षा अनुसंधान एवम् विकास संगठन


    • एडीए - लड़ाकू वायुयानों के लिए एफसीएस एवं अनुरूपक का विकास
    • आइआरडीई - मानव रहित हवाई वाहनों के लिए सेंसर
    • डीएलआरएल - यूएवी'ज के लिए ईडब्ल्यू पद्धति
    • एलआरडीई - यूएवी'ज के लिए रडार
    • सीएबीएस - एडीई द्वारा विकसित विभिन्न पद्धतियों के लिए उड़ान परीक्षणों में भागीदारी, विद्युत परीक्षण सुविधा
    • सीईएलआइएलएसी - हवाई योग्यता प्रमाण पत्र
    • एचईएमआरएल एवं एआरडीई - यूएवी'ज के लिए आयुध एवं विस्फोट संबंधी पद्धतियां
    • आर एंड डी इंजीनियर - लाँचर, भूनियंत्रण स्टेशन, यांत्रिक रखरखाव वाहन, परिवहन वाहन, एविआनिक्स आयोजन वाहन का विकास
    • एडीआरडीई - ऐसे यूएवी'ज कोनिकल पैराशूट पद्धति
    • आरसीआई - विकसित मानवरहित हवाई वाहनों के लिए अन्वेषकों पर पारस्परिक क्रिया
    • एएसएल - विकसित मानव रहित हवाई वाहनों के लिए लाँचर पद्धति पर पारस्परिक क्रिया
    • डीआरडीएल - मिसाइलों पर उड़ान परीक्षणों में भागीदारी
    • जीटीआरई - विकसित मानव रहित हवाई वाहनों के लिए इंजन संबंधी कार्य
    • डीआइपीएएस - पायलट के मानसिक कार्य भार का मूल्यांकन करने के लिए अनुरूपक गतिविधि
    • डीएआरई - मिग-27 उन्नत वायुयान के लिए एपीटीटी
    • वीआरडीई – यूएवी रोटरी इंजन का विकास और उड़ान परीक्षण
    • डीईएएल - डाटलिंक पद्धति, एसएसएम पैकेज, आरएफ पैकेज, एसएसपीए-एस बैंड एवम् एसएसपीए-सी बैंड उपपद्धतियों का विकास
    • डीआइएटी – यूएवी'ज पद्धतियों के लिए अध्ययन

  2. सीएसआइआर प्रयोगशालाएं


    • अनेक सीएसआइआर प्रयोगशालाएं जैसे नाल, समीर, सीरी इत्यादि

  3. शैक्षणिक संस्थान


    • आइआइएससी, आइआइटी'एस, एमआइटी चेन्नई, एनआइईटीएस और अन्य अनेक इंजीनियरी कॉलेज

  4. सार्वजनिक क्षेत्र के उपक्रम


    • ईसीआइएल - सेंसर आवर्धक, एंटिना एवं नियंत्रण पद्धति, भू नियंत्रण पद्धतियां, एफसीएस उप पद्धतियां और यूएवी'ज के लिए जीपीए उप पद्धतियां
    • एचएएल, बंगलौर - एयरफ्रेम, संरचनात्मक एवं यांत्रिकी पद्धति और यूएवी'ज की वायुयान असेम्बली
    • एचएएल, लखनऊ - एडीई यूएवी'ज के ईंधन टैंक पद्धतियों पर एचएएल लखनऊ के साथ पारस्परिक क्रिया करती है
    • बीईएल, बंगलौर - भू नियंत्रण स्टेशन, यूएवी के लिए वायु वाहित इलैक्ट्रॉनिक्स पद्धति और उड़ान नियंत्रण इलैक्ट्रॉनिक्स डाटालिंक पद्धति और यूएवी के लिए एंटिना पद्धतियाँ
    • बीडीएल, हैदराबाद - पुनःउपयोग टारगेट के लिए कर्षण बॉडी
    • बीईएमएल, बंगलौर - यूएवी'ज और अन्य के लिए टाटा वाहन

इसके अतिरिक्त, जैसेकि अपेक्षित किया जा सकता है, एडीई की अनेक निजी उद्योगों के साथ भागीदारी हैं

.
.
.
.
Top